bf सेक्सी डाउनलोड

योनि में हाथ डालना

योनि में हाथ डालना, अरमान बीसी दो दिन मे ही अरमान सर से अरमान पर आ गयी...आराधना को देखते हुए मैने सोचा और फिर बोलागुड मॉर्निंग माँ... आ जाओ लेडवो , तुम लोगो को शायद पता नही कि मैने पैदा होने के बाद चलना नही डाइरेक्ट दौड़ना शुरू किया था,इस खेल मे तो तुम्हारा बाप भी मुझे नही हरा सकता...उनकी तरफ पलटकर मैने उन सबका मज़ाक उड़ाया और फिर से तेज़ रफ़्तार मे दौड़ने लगा.....

मैं अभी भी उसकी सुंदरता को एकटक अपनी आँखों से निहार रहा था , वाकई शिखा ऐसी खूबसूरत दिखती थी कि हर मर्द वैसी खूबसूरत बीवी पाने की दुआ करता हो. भानु : अरे! वो तो कुछ भी नहीं है.. उससे भी पावरफुल! मास्चरबेशन का क्या है? उसमें तो बस अपना ही हाथ है.. लेकिन जब दूसरे का हाथ लगता है न.. पूरा शरीर झनझना जाता है।

उस वक़्त आँखो मे आँसू उसके भी थे ,उस वक़्त दिल मेरा भी रोया था.....उस वक़्त अपने प्यार के सामने वो भी चुप थी ,उस वक़्त अपने प्यार के सामने चुप मैं भी था....उसके बगैर जीने की आदत ना तो उसे थी और उसके बगैर जीना मेरा भी मुश्किल था...... योनि में हाथ डालना भैया : देखो चंपा , जो भी मैंने किया , तुम्हारे बच्चे के लिए किया , लेकिन मेरा मन नहीं मानता तुम्हारे साथ अब ये सब करने को !

हिंदी भाभी की सेक्सी

  1. 8.2,...क्लिनिक ऑल क्लियर...सुलभ एक झटके मे खड़ा हुआ और दूसरे झटके मे बैठ गया...बोले तो वेरी फास्ट प्रोसेस....
  2. कुछ देर के बाद हम दोनों ही संयत हो गए। मैं कुछ देर उसके ऊपर यूँ ही लेटा रहा। जब उठा तो मैंने कहा, नीलू, मुझे बहुत मज़ा आया! तुमको? राजस्थान देसी सेक्सी वीडियो
  3. रश्मि रूद्र और सुमन को ढूंढते हुए कमरे से बाहर निकली और सीधा बैठक की तरफ गई। वहां कोई भी नहीं था, तो वो वापस अपने कमरे की तरफ आने लगी। तब जा कर उसने देखा कि छोटे वाले कमरे में कोई है। उसने कमरे के अन्दर झाँका, तो अन्दर का दृश्य देख कर चमत्कृत रह गई। उसके बाद जब दूसरा पेपर आया ,तब उस लड़की ने मुझे शुरुआत मे ही स्माइल दी और तभिच मैने बेधड़क,बेझिझक बोला कि जबतक अपुन सारे क्वेस्चन के आन्सर नही लिख लेता ,तब तक अपुन को डिस्टर्ब नही करने का....उसके बाद यदि टाइम बचा तो अपुन खुद ही तेरे को आन्सर बता देगा....
  4. योनि में हाथ डालना...तीन महीने पहले जो हुआ ,उससे तो छोटा ही लफडा होगा और वैसे भी उस कुतिया को इसका अहसास होना चाहिए कि मैं फॉर्म मे आ चुका हूँ और उसकी *** चोदने के लिए बिल्कुल तैयार हूँ... ये सुनते ही मेरा बाकी बचा-कूचा खून भी गुस्से से जल उठा और दिल किया कि अभी जाकर दिव्या को एक तमाचा जड़ डू...लेकिन मैने ऐसा नही किया.
  5. सौरभ को अरुण के साथ भेजकर मैं सीधे पार्किंग मे पहुचा, जहाँ इस वक़्त बहुत भीड़ थी . उस भीड़ मे मेरे क्लास के कयि लौन्डे थे और उन्ही मे से मैने एक का मोबाइल लेकर एश के आने का इंतज़ार करने लगा.... एश शायद अपनी बीमारी के चलते मुझे भूल जाए ,पर मुझे यकीन है कि वो जब भी कॉलेज के फोटोस मे मुझे देखेगी तो एक पल के लिए,एक सेकेंड के लिए उसके दिल की घंटी ज़रूर बजेगी....और यदि वो घंटी नही भी बजती तो कोई बात नही...

भारत का सेक्सी वीडियो

साला कितनी अच्छी लाइफ चल रही थी लेकिन अरुण के एक किस ने सब कुच्छ ख़तम कर दिया, यदि मैं उस दिन गौतम को नही मरता तो ये नौबत ही नही आती...

और दीपिका मॅम की तरफ से ग्रीन सिग्नल मिलते ही मैने अपने लंड को उनकी चूत के बीच-ओ-बीच रखा और हल्का सा दबाव दिया.....लेकिन मेरा लंड ज़रा सा भी अंदर नही गया....फिर मैने और ज़ोर से दबाव बनाया... बोसे ड्के, तूने मुझे इतना दौड़ाया कि मैं भूल ही गया...आज के बाद यदि तू मेरे सामने भी आया ना बेटा, तो तू मर गया समझ....साले साँस लेते नही बन रहा है,लगता है कि कलेजा मुँह से बाहर निकल जाएगा.....

योनि में हाथ डालना,जिस रूम मे निशा के डॅड अड्मिट थे वहाँ का नज़ारा बिल्कुल जाना पहचाना था..जैसा की अक्सर होता है,निशा का बाप बेड पर बेहोश पड़ा था ,उसके हाथ मे ग्लूकोस की एक बोतल सुई छेद्कर चढ़ाई गयी थी...और निशा अपनी माँ के साथ बेड के आस-पास उदास बैठी हुई थी....

मेला बेटू अपनी मम्मी की चुदाई करना चाहता है? आज रश्मि को क्या हो गया है! अगर ऐसे ही होता रहा तो उसकी बातें सुन कर ही मैं स्खलित हो जाऊंगा!

इज़्ज़त लायक कुच्छ किया होता तो मैं तेरे चरण धोता लेकिन हक़ीक़त ये नही है...तो फिर तूने ये कैसे सोच लिया कि मैं तुझसे अच्छे से बात करूँगा बे चुस्वन्त...चुस्सू..चूसैल...चूतिए...बीएफ मूवी सेक्सी हिंदी में

मुझे देखकर उस लड़के के चेहरे के रंग अचानक बदल गये और उसने अपनी गीली टवल मुझे देखते हुए बिस्तर पर फेक दी...उसकी इस हरक़त से मैं समझ गया कि साले का कंघी लौटने का कोई विचार नही है और कंघी को छिपाने के लिए उसने अभी-अभी बिस्तर पर अपनी टवल फेकि है. तीसरी बार भी मैने सिगरेट के धुए को अपने सीने मे घुसाया और इस बार खांसने के साथ-साथ मेरी आँखो से आँसू भी निकल गये और सर भी घूमने लगा....

वरुण और उसके दोस्त हमसे भीड़ पड़े, लेकिन हम उनसे कयि गुना ज़्यादा थे इसलिए चन्द मिनट मे ही हमने उन सबको बुरी तरह मारा, लात से, हाथ से उन सबको फूटबाल की तरह धोया और कुछ देर मे ही वरुण और उसके दोस्त ज़मीन पर लेटे कराह रहे थे......

जब से कॉलेज मे आया हूँ, साला सब मार के चले जाते है, अब दीपिका मॅम को ही ले ले, आज लॅब मे साली ने मेरा हाथ चूत से ही टच करवा दिया....,योनि में हाथ डालना वो क्या है कि... किसी महान पुरुष ने कहा है कि ,जब आप खुद कोई राज़ की बात अपने अंदर नही रख पाए ,तो फिर आप दूसरो से कैसे एक्सपेक्ट कर सकते हो कि वो ये बात किसी और को ना बताए...

News